अगले दो वर्षों के दौरान रेलवे में सवा दो लाख लोगों की भर्ती होगी. ये नौकरियां उन डेढ़ लाख नौकरियों के अतिरिक्त होंगी जिन पर फिलहाल भर्ती की प्रक्रिया चल रही है और जिसके अप्रैल तक पूरा हो जाने की संभावना है. रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि यह रेलवे के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा भर्ती अभियान होगा. इनमें दस फीसद नौकरियां आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को मिलेंगी. उनके अनुसार अभी रेलवे में कुल मिलाकर लगभग 12 लाख कर्मचारी हैं, अप्रैल तक नई भर्ती वाले डेढ़ लाख कर्मचारी इसमें जुड़ जाएंगे. जबकि रिटायर होने वाले कर्मचारियों के स्थान पर अगले दो सालों में 2.32 लाख कर्मचारियों की नयी भर्ती होगी. इस तरह तीन वर्षो में कुल चार लाख नए कर्मचारी रेलवे में शामिल होंगे. गोयल ने कहा कि इससे युवाओं का नया जोश और हुनर रेलवे को प्राप्त होगा और भारतीय रेल विश्व की सबसे अच्छी रेल बनने के साथ परिवहन का पसंदीदा साधन भी बन सकेगी. उन्होंने कहा कि रेलवे में होने वाली इन सभी नई भर्तियों में अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, दिव्यांगों के लिए निर्धारित आरक्षण यथावत मिलेगा. साथ ही हाल में हुए संविधान संशोधन के आलोक में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए निर्धारित दस फीसद आरक्षण के तहत 23 हजार लोगों को भी रेलवे में नौकरी प्राप्त होगी. उन्होंने कहा कि इस समय जिन डेढ़ लाख लोगों को भर्ती करने की प्रक्रिया चल रही है उसे अप्रैल तक पूरा कर लिया जाएगा. पहली बार वीडियो रिकार्डिग के जरिए भर्ती प्रक्रिया को पूरी तरह प्रतिस्प‌र्द्धी और पारदर्शी बनाया गया है, इस रिकॉर्डिग को सार्वजनिक भी किया जाएगा. गोयल ने निजी वेबसाइट नौकरी डॉट कॉम द्वारा जारी सर्वे का हवाला देते हुए नौकरियों में कमी के विपक्षी प्रचार के जवाब में कहा कि सर्वे के मुताबिक 84 फीसद कंपनियों का मानना है कि जनवरी-जून, 2019 के छह महीनो के दौरान देश में पिछले छह माह की अपेक्षा 20 फीसद अधिक भर्तियां होंगी. यह सर्वे 15 क्षेत्रों में कार्यरत निजी कंपनियों से प्राप्त आंकड़ों पर आधारित है. गोयल ने उक्त बातें देश के अलग-अलग स्थानों से चलने वाली 22 ट्रेनों के विस्तार के सिलसिले में रेल भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहीं. गोयल ने 22 ट्रेनों के रूट में कुछ नए स्टेशन शामिल करते हुए इनके मार्ग विस्तार का ऐलान किया. फीरोजपुर-लुधियाना कैंट सतलज एक्सप्रेस को साहिबजादा, अजीत सिंह नगर तथा न्यू मोरिंडा के नए स्टॉपेज के साथ चंडीगढ़ तक बढ़ाया गया है. ऊधमपुर-जम्मू तवी डेमू ट्रेन को सभी स्टेशनों पर स्टॉपेज के साथ पठानकोट तक विस्तार दिया गया है. बरेली-सिंगरौली/शक्तिनगर एक्सप्रेस को रायबरेली सिटी, इज्जतनगर, पीलीभीत और मझोला पकडि़या में स्टॉपेज के साथ टनकपुर तक और बांद्रा-पटना हमसफर एक्सप्रेस अब बेगूसराय और खगडि़या के अतिरिक्त स्टॉपेज समेत सहरसा तक चलेगी. बाड़मेर-हरिद्वार लिंक एक्सप्रेस भी रायवाला में स्टॉपेज के साथ अब ऋषिकेश तक चलेगी. श्रीमाता वैष्णोदेवी कटरा-अहमदाबाद सर्वोदय एक्सप्रेस का गांधीधाम तक मार्ग विस्तार किया गया है, जिसमें वीरमगाम, धारंगधरा और समाख्याली नए स्टॉपेज होंगे.
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *