भारत आज कई क्षेत्रों में दुनिया की अगुवाई करने की स्थिति में है और हमारे देश के योगदान को दुनिया स्वीकार भी कर रही है. हमारा मंत्र रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म है. दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ स्कीम भारत चला रहा है. मेक इन इंडिया के तहत कार बस ट्रक और मोबाइल बन रहे हैं, खेतों में अन्न का रिकॉर्ड उत्पादन हो रहा है. हमने सिस्टम में बदलाव करके भ्रष्टाचार पर रोक लगाई है. पहले लूट खत्म करने की नीति और नीयत नहीं थी. अब लोगों के बैंक खाते में सीधा पैसा जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में 15 वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद कहा कि काशी भारतीय संस्कृति को दुनिया से परिचित कराती है. प्रवासी भारतीय दिवस अटल जी ने शुरू किया था, मैं अटल जी की विराट सोच को नमन करता हूँ. मोदी ने कहा कि काशी और प्रवासियों में एक समानता है. काशी भारत के संस्कृतिक और दार्शनिक ज्ञान से दुनिया को चिरकाल से परिचित कराती रही है और प्रवासी भी दुनिया को भारत की ऊर्जा से परिचित करा रहे हैं. सम्मेलन में 150 देशों के 5000 से ज्यादा प्रवासी भारतीय शामिल हुए हैं. मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ भी PM मोदी के साथ आये. PM ने कहा कि दुनिया आज हमारे सुझावों को गंभीरता के साथ सुन और समझ रही है. पर्यावरण सुरक्षा और विश्व की प्रगति में दुनिया भारत का योगदान स्वीकार कर रही है. इंटरनेशनल सोलर अलायंस के माध्यम से दुनिया को हम वन सन, वन ग्रिड की ओर ले जाना चाहते हैं. बीते साढ़े चार वर्षों में भारत ने दुनिया में अपना स्वाभाविक स्थान बनाने के लिए बड़ा कदम उठाया है. पहले लोग कहते थे कि भारत बदल नहीं सकता, लेकिन भारत बदल नहीं सकता इस सोच को हमने बदल दिया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि चार सालों में दुनिया में फंसे प्रवासी भारतीयों तक भारत ने मदद पहुंचाई. सभी एंबेसी और कॉन्सुलेट को पासपोर्ट सेवा से जोड़ा जा रहा है. प्रवासी तीर्थ दर्शन योजना की भी शुरुआत हो रही है. वीजा के लिए ऑनलाइन सुविधा पर काम हो रहा है. मुझे विश्वास है कि मेरी काशी आपके माध्यम से फिर एक बार दुनिया के मन में जगह बनाएगी. ऐसा होगा कि हर किसी का काशी आने का मन करे. बदलते हुए इस भारत में आप रिसर्च एंड डेवलपमेंट और इनोवेशन में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं. सरकार ये भी कोशिश कर रही है कि भारत के स्टार्ट अप और एनआरआई मेंटर को एक साथ, एक प्लेटफॉर्म पर लाए. डिफेंस मैन्युफेक्चरिंग भी आपके लिए एक अहम सेक्टर हो सकता है. PM ने कहा कि मैं इस मंच पर पहले भी कह चुका हूं, आज फिर दोहराना चाहता हूं कि आप जिस भी देश में रहते हैं, वहां से अपने आसपास के कम से कम 5 परिवारों को भारत आने के लिए प्रेरित करिए. आपका ये प्रयास, देश में टूरिज्म बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएगा. उन्होंने कहा कि एक पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा था कि- ‘दिल्ली से एक रुपया निकलता है तो लोगों तक 15 पैसे पहुंचते हैं, 85 पैसे छूमंतर हो जाते हैं’. उन्होंने अपने पार्टी की बीमार शासन व्यवस्था को तो स्वीकार किया, लेकिन इसका इलाज नहीं किया. हमने 85 पैसे की इस लूट को शत प्रतिशत खत्म कर दिया. बीते साढ़े चार साल में करीब 5 लाख 80 हजार करोड़ रुपए (80 बिलियन डॉलर) सीधे लोगों के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किए गये. ये सुधार पहले भी हो सकता था लेकिन नीयत नहीं थी, इच्छाशक्ति नहीं थी. मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद्र जगन्नाथ ने इस अवसर पर हिंदी में कहा कि इस पवित्र नगरी में आए प्रवासी भारतीयों को मेरा प्रणाम. हम संस्कृति की गोद में हैं और यहां से गंगा जी का आशीर्वाद लेकर अपने- अपने देश जाएंगे. उन्होंने स्किल इंडिया, मेक इन इंडिया, बेटी बचाओ समेत नरेंद्र मोदी सरकार की विभिन्न योजनाओं की जमकर तारीफ भी की. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मॉरीशस के PM प्रवींद जगन्नाथ का स्वागत किया. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रभाव और नेतृत्व के कारण भारत की प्रतिष्ठा बाहर के देशों में बढ़ी है और उससे आप लोगों का गौरव और सम्मान भी बढ़ा है. मंच पर UP के राज्यपाल राम नाईक, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह भी मौजूद थे. PM मोदी ने मॉरीशस की विख्यात लेखिका रेशमी रामधोनी की पुस्तक “प्राचीन भारतीय संस्कृति और सभ्यता” का विमोचन किया और ‘भारत को जानिए’ क्विज के विजेताओं को पुरस्कृत करने के साथ ही वहाँ लगायी गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया. हस्तकला संकुल के नए कलेवर को काशी को समर्पित किया तथा वस्त्र मंत्रालय के एक एप को भी लांच किया. मोदी अपने संबोधन के बाद मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रवींद्र जुगनाथ के साथ स्टेडियम में ही तैयार PM लाउंज में द्विपक्षीय वार्ता करने के अलावे सम्मानित प्रवासियों के साथ बैठक करेंगे और दुनिया भर के 200 विशिष्ट लोगों के साथ भोजन करेंगे.
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *