मतदान महादान है और इसीसे हमारा भविष्य निर्धारित होता है. मतदान के अपने अधिकार का सही इस्तेमाल करते हुए हमें अपने लिए योग्य प्रत्याशी का चयन करना ही चाहिए. निर्वाचन आयोग द्वारा जहानाबाद जिले की चुनाव आईकॉन बनाई गई बिहार की प्रसिद्ध लोक गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने शकूराबाद बाजार और रघुनाथगंज गांव में मतदाता जागरूकता अभियान चलाते हुए वोटरों को मतदान की प्रक्रिया में हिस्सा लेने के लिए प्रेरित किया. विषेशकर युवा वोटरों को चुनाव की प्रक्रिया में जरुर हिस्सा लेने के लिए प्रेरित किया क्योंकि इसीसे देश का और स्वयं हमारा भविष्य निर्धारित होता है. उन्होंने कहा कि मतदान के अपने अधिकार का सही इस्तेमाल करते हुए हमें लोकसभा तथा विधानसभा के लिए योग्य प्रत्याशी का चयन करना चाहिए. “मतदान, महादान है” इसके लिए हर मतदाता का जागरूक रहना जरूरी है. उन्होंने कहा कि 2011 से पूरे देश में 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है, क्योंकि 25 जनवरी 1950 को ही चुनाव आयोग की स्थापना हुई थी. राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने का सुझाव एक आम नागरिक द्वारा चुनाव आयोग को दिया गया और चुनाव आयोग ने सुझाव स्वीकार किया. इस साल हम 9वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने वाले हैं. पहले मतदाता की पात्रता आयु 21 वर्ष थी, लेकिन 1988 में मतदाताओं की न्यूनतम आयु घटाकर 18 साल कर दिया गया. लोक गायिका नीतू नवगीत ने कहा कि भारत की 50% से अधिक आबादी 35 साल के उम्र से कम है. जिन युवकों और युवतियों की आयु इस साल 1 जनवरी को 18 साल की हो गयी, उन्हें अपना नाम निर्वाचन नामावली में अवश्य दर्ज कराना चाहिए ताकि चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें. युवाओं को जागरूक होना और लोकतांत्रिक प्रक्रिया का हिस्सा बनना बहुत महत्वपूर्ण है. उन्हें अपने अधिकारों और दायित्वों का एहसास करना भी बहुत जरूरी है. हम लोकतंत्र में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर अपने देश की लोकतांत्रिक प्रक्रिया को और अधिक मजबूत बना सकते हैं.
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *