हिज्बुल मुजाहिदीन के गढ़ कहे जाने वाले पुलवामा के त्राल इलाके में सेना ने 3 जनवरी को तीन आतंकियों को मार गिराया. इसके बाद पुलवामा जिले में भारी हिंसा भी हुयी. खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के बाद हुई इस मुठभेड़ में सेना का एक जवान भी घायल हुआ. कुख्यात आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर ने अपने भतीजे- भांजे की मौत से बौखलाकर एक अफगानी आतंकवादी को कश्मीर भेजा है. सेना के अनुसार गुरुवार को सुबह खुफिया सूत्रों से पुलवामा में आतंकियों की मौजूदगी के इनपुट मिले थे. इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए सेना की 42 राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू-कश्मीर पुलिस की SOG और सीआरपीएफ ने त्राल के पहाड़ी इलाकों में बड़ा सर्च ऑपरेशन शुरू किया. इस कार्रवाई के दौरान जंगल में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू की, जिसके बाद जवानों ने जवाबी कार्रवाई कर आतंकियों की घेराबंदी की. इस अभियान में सेना ने 3 आतंकियों को मार गिराया, वहीं ऑपरेशन में सेना का एक जवान घायल हुआ. सेना ने एनकाउंटर में मारे गए आतंकियों के पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किया है. त्राल में हुई इस कार्रवाई के बाद पुलवामा जिले में काफी देर तक तनाव की स्थिति बनी रही. इस दौरान अवंतिपोरा और त्राल के कुछ इलाकों में हिंसक प्रदर्शन भी हुए. सीआरपीएफ के जवानों ने आंसू गैस के गोले दागकर उपद्रवियों को खदेड़ा. कुख्यात आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर ने अपने भतीजे भांजे की मौत से बौखलाकर बदला लेने के लिए उसने एक अफगानी आतंकवादी अब्दुल रशीद गाजी को कश्मीर भेजा है. मसूद अजहर का भतीजा उस्मान मौलाना और भांजा तल्हा रशीद 30 अक्टूबर को सेना के साथ हुए एनकाउंटर में साउथ कश्मीर के ही त्राल इलाके में मारा गया था. खुफिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब्दुल रशीद गाजी जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर है, जो 9 दिसंबर 2018 के शुरुआती दिनों में अवैध रूप से जम्मू-कश्मीर में दाखिल हुआ था और महीने के आखिर में साउथ कश्मीर के पुलवामा इलाके में था. करीब तीन सप्ताह के इस वक्त में उसके ज़्यादातर पैदल चलने और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में ट्रैवल करने की भी रिपोर्ट् है. जानकारी के मुताबिक गाजी के साथ जैश के दो आतंकवादी और हैं. गाजी का काम स्थानीय आतंकवादियों को ट्रेनिंग देना होगा. गाजी हथियारों और मुख्यत: विस्फोटकों का एक्सपर्ट है. वह अफगानिस्तान युद्ध में हिस्सा ले चुका है और अमेरिकी सेना के खिलाफ ऑपरेशन भी चला चुका है.
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *