पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतापुर साहिब कॉरिडोर का शिलान्यास करने के बाद कहा कि इंसान चांद पर पहुंच चुका है तो क्या हम एक मसला हल नहीं कर सकते. मैं यक़ीन दिलाता हूं कि ये मसला हल हो जाएगा, इरादा चाहिए. पाक PM ने कहा कि हमारा मसला सिर्फ कश्मीर का है, इंसान चांद पर पहुंच चुका है लेकिन हम एक मसला हल नहीं कर पा रहे हैं. उन्होंने कहा कि ये मसला जरूर हल हो जाएगा, इसके लिए पक्का फैसला जरूरी है. उन्होंने कहा कि अगर हिंदुस्तान एक कदम आगे बढ़ाएगा तो हम दो कदम आगे बढ़ाएंगे. हम दोनों के पास एटमी हथियार है, जंग हो ही नहीं सकती. दोनों देशों के बीच जंग का सोचना भी पागलपन है. इमरान ने कहा कि जब मैं सियासत में आया तो ऐसे लोगों से मिला जो बस अपने लिए ही काम कर रहे थे उन्हें आवाम से कोई लेना-देना नहीं होता था. आवाम को भूल जाते थे. मैं एक दूसरे किस्म का नेता रहा जो नफरतों के नाम पर नहीं, बल्कि काम के नाम पर राजनीति करता हूँ. उन्होंने कहा कि दोनों तरफ गलतियां हुईं लेकिन हम जबतक आगे नहीं बढ़ेंगे तो जंजीर नहीं टूटेगी. आज पाकिस्तान-हिंदुस्तान जहां खड़ा है, 70 साल से दोनों के बीच ऐसा ही चल रहा है और जहां तक गलतियों की बात है दोनों तरफ से गलतियां हुईं हैं. इमरान ने कहा कि दो तरह के लोग होते हैं. मैंने 21 साल क्रिकेट खेली और 22 साल से सियासत कर रहा. क्रिकेट में मैं दो तरह के खिलाड़ियों से मिला, एक वो जो हमेशा मैदान पर हारने से डरते थे इसलिए वो कोई रिस्क नहीं लेते थे और दूसरे वो खिलाड़ी जो हमेशा जीतने की सोचते थे, हारने से नहीं डरते थे. हमेशा दूसरे ढंग वाला खिलाड़ी ही चैंपियन बनता था, हारने से डरने वाला खिलाड़ी कभी बड़ा नहीं बनता. उन्होंने कहा कि हम एक कदम आगे बढ़कर दो कदम पीछे हट जाते हैं, ये ताकत नहीं आई है कि कुछ भी हो हम रिश्ते ठीक करेंगे ही. अगर फ्रांस-जर्मनी एक साथ आ सकते हैं, तो फिर पाकिस्तान-हिंदुस्तान ऐसा क्यों नहीं कर सकते? हमने भी एक-दूसरे के लोग मारे हैं, लेकिन फिर भी सब भूला जा सकता है. उन्होंने कहा कि हमेशा कहा जाता था कि पाकिस्तान की फौज दोस्ती नहीं होने देगी, लेकिन आज हमारी पार्टी, PM और फौज एक साथ हैं. इमरान खान ने कहा कि जब पिछली बार सिद्धू वापस गए तो इनकी काफी आलोचना हुई, लेकिन एक इंसान जो शांति का पैगाम लेकर आया है वो क्या जुर्म कर रहा है. हम चाहते हैं कि दोनों मुल्कों के बीच में अमन हो. आज लग रहा है कि पाकिस्तान में हिंदुस्तान खड़ा है. इसी बीच उन्होंने सिद्धू के प्रधानमंत्री बनने की दुआएं मांगते हुए कहा कि हम अब इंतजार नहीं कर सकते कि जब सिद्धू भारत के वजीरेआजम बनेंगे तभी भारत और पाक की दोस्ती होगी. उन्होंने कहा कि अगर सिद्धू पाकिस्तान में चुनाव लड़ लें तो वो जीत सकते हैं.
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *