भारतीय सेना ने मंगलवार को पूर्वी सेक्टर में जमीन पर वार करने वाले ब्रह्मोस मिसाइल के एडवांस वर्जन का सफल परीक्षण कर अपने इस पराक्रमी हथियार की हमलावर क्षमता को फिर से साबित कियाl जमीन पर वार करने वाले ब्रह्मोस ब्लॉक-3 का परीक्षण इसके पूर्ण रेंज के तहत एक मोबाइल ऑटोनोमस लॉन्चर से किया गयाl अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह में परीक्षण के दौरान इस हथियार ने असाधारण हमलावर क्षमता का प्रदर्शन किया और लक्ष्य पर बिल्कुल सटीक निशाना लगायाl ब्रह्मोस एलएसीएम ब्लॉक- 3 वर्जन का यह चौथा सफल परीक्षण था, जिससे मिसाइल के सटीक निशाना लगाने की क्षमता का प्रदर्शन हुआl सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ने जमीन पर स्थित लक्ष्य पर बिल्कुल सटीक निशाना लगायाl ब्रह्मोस एलएसीएम ब्लॉक- 3 का निर्माण भारत और रूस की संयुक्त परियोजना के तहत किया गयाl यह रूस के पी-800 ओनिक मिसाइल पर आधारित हैl इसमें एडवांस गाइडेंस और उन्नत सॉफ्टवेयर हैं और यह हाई अल्टीट्यूड से गहरा डाइव लगा सकता हैl इसको भारत और रूस के संयुक्त वेंचर ‘ब्रह्मोस एयरोस्पेस’ ने तैयार किया हैl मार्च महीने में ही भारत ने पहली बार 450 किमी दूर तक मार करने में सक्षम नई ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया थाl इसकी गति आवाज से भी तीन गुना ज्यादा हैl ब्रह्मोस भारत की ही नहीं, बल्कि दुनिया की सबसे तेज सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल मानी जा रही हैl ब्रह्मोस सिरीज के मिसाइल को पनडुब्बी, जहाज, एयरक्राफ्ट या जमीन, कहीं से भी लॉन्च किया जा सकता हैl
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *