पाकिस्तानी क्रिकेट अधिकारियों ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेलने के लिये मानहानि का दावा ठोकने की धमकी दी है क्योंकि इससे उन्हें काफी वित्तीय नुकसान हो रहा है. पीसीबी की कार्यकारी समिति के चेयरमैन नजम सेठी ने ट्वीट किया कि उन्होंने यह बात बीसीसीआई अधिकारियों को दुबई में आईसीसी के कार्यकारी बोर्ड की बैठक के मौके पर बता दी थी. बीसीसीआई को बताया था कि 2014 में द्विपक्षीय सीरीज खेलने के लिये हस्ताक्षर किये गये करार के बावजूद इससे इनकार करने के कारण बीसीसीआई पर मानहानि का दावा ठोक रहा है. पाकिस्तान के घरेलू सीरीज की मेजबानी तटस्थ स्थल पर करने के लिये सहमत होने के बावजूद बीसीसीआई ने खेलने से इनकार किया है. पाकिस्तान का दावा है कि भारत के उसके खिलाफ दो घरेलू सीरीज नहीं खेलने के कारण उसे करीब 20 करोड़ डालर का नुकसान हुआ है. सेठी एक बार फिर पीसीबी का चेयरमैन बनने की दौड़ में सबसे आगे हैं. उन्होंने ही 2014 में आईसीसी बैठक के मौके पर बीसीसीआई अधिकारियों से समझौते पत्र पर हस्ताक्षर किये थे. जिसके अनुसार पाकिस्तान और भारत को 2015 से 2023 के बीच छह द्विपक्षीय सीरीज खेलनी थी, लेकिन भारत ने अभी तक एक भी सीरीज नहीं खेली है और यह कहते हुए इनकार किया है कि उसकी सरकार ने पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट संबंधों की हरी झंडी नहीं दी है.
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *