अखिलेश यादव की सरकार में मंत्री रहे राम करन आर्य को हत्या के एक मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। आर्य ने विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा को राक्षस तथा कांग्रेस को शैतान कहा था। बस्ती निवासी आबकारी एवं खेलकूद राज्यमंत्री रहे रामकरन आर्य को हत्या के मामले मे आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। डुमरियागंज से भाजपा के सांसद जगदम्बिका पाल के चचेरे भाई शम्भू पाल की हत्या के मामले में साजिश रचने का मामला इनके खिलाफ दर्ज किया गया था। यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन पर अखिलेश यादव सरकार में खेल व युवा कल्याण के साथ आबकारी मंत्री रहे राम करन आर्य भाजपा को बड़ा शैतान तथा कांग्रेस को छोटा शैतान बताया था। राम करन आर्य, उत्तर प्रदेश की 16वीं विधानसभा में विधायक और सपा सरकार में मंत्री थे। 2012 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश की बस्ती के महादेवा विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव जीता था। मंत्री रामकरन पहले भी विवादित बयान दे चुके हैं। एक जनसभा को संबोधित करते हुए इन्होंने कहा था कि आने वाले चुनावों में जो हमें वोट नहीं देगा वो हमारा सगा नहीं है। पोलिंग के दिन जो भी कार्यकर्ता बूथ पर खड़ा होकर मुलायम और अखिलेश को वोट देगा, वहीं उनका सगा है। बेटी देना और बेटी लेना कोई रिश्तेदारी नहीं है।
loading…
Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *